GURUTVA KARYALAY


Thanks to come here please come again affter some time. 

रूद्राक्ष

 

रुद्राक्ष को भगवान शिव का प्रतिक मानाजाता  है. रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के अश्रु से हुइथी इस लिये इसे रुद्राक्ष  कह जाता है.

 

रुद्राक्ष शब्द "रुद्र+अक्ष" - रुद्र = शिव

अक्ष = आशु/अश्रु

 

 

रूद्राक्ष

भगवान

ग्रह

लाभ

 

 

 

 

1 मुखी

शिव

सूरज

विद्वानो के मत से एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से आंतरिक चेतना प्रबुद्ध होती है एवं मानसिक शक्ति क विकास होत है. धारण करता को सभी सांसारिक सुखो कि प्राप्ति होती है.

2 मुखी

अर्धनारीश्वर

 

चंद्रमा

विद्वानो के मत से दो मुखी रुद्राक्ष धारण करने से गुरु-शिष्य, माता-पिता, बच्चे, पति-पत्नी एवं अन्य रिस्तो के मध्य एकता बनाए रखने सहायक सिद्ध होता है

3 मुखी

अग्नि

मंगल

विद्वानो के मत से तीन मुखी रुद्राक्ष धारण करने से खरब विचार धारा (कुमति) ओर सर्व प्रकार के भय और पीडा  दुर होति है

4 मुखी

ब्रह्मा

बुध

विद्वानो के मत से चार मुखी रुद्राक्ष धारण करने से  बुद्धि तीव्र ओर कुशाग्र होती है एवं जीवन मे रचनात्मकता आति है

5 मुखी

कालाग्नि रुद्र

बृहस्पति

विद्वानो के मत से पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने से स्वास्थ्य लाभ और शांति कि प्राप्ति होती है.

6 मुखी

कार्तिकेय

शुक्र

विद्वानो के मत से छ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से सांसारिक दुखों से रक्षा होति है ज्ञान और बुद्धि कि प्राप्ति होती है. एवं प्यार, संगीत और व्यक्तिगत संबंधों की सराहना करता है.

7 मुखी

महालक्ष्मी

शनि

विद्वानो के मत से सात मुखी रुद्राक्ष धारण करने से व्यापार ओर आदमी वृद्धि होति है. समस्त प्रकार के भौतिक सुखो कि प्राप्ति होति है

8 मुखी

गणेश

राहू

विद्वानो के मत से आठ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से रिद्धि- सिद्धि कि प्राप्ति होति है ओर समस्त प्रकार के शत्रु पर विजय प्राप्त कर समस्त बाधा दुर होति है

9 मुखी

दुर्गा

केतु

विद्वानो के मत से नव मुखी रुद्राक्ष धारण करने से उर्जा शक्ति मे इजफा होत है एवं जीवन मे सफलता प्राप्त कर गतिशीलता कि प्राप्ति होति है.

10 मुखी

विष्णु

कोई नहीं

विद्वानो के मत से दश मुखी रुद्राक्ष धारण करने से शरीर कि रक्षा होति है

11 मुखी

हनुमान

कोई नहीं

विद्वानो के मत से एकादश मुखी रुद्राक्ष धारण करने से ताकत, वाक शक्ति, साहसी जीवन, उत्तम ज्ञान एवं दुर्घटना में मृत्यु से बचाता है. ध्यान ओर योगाभयास मे सहायक होत है

12 मुखी

सूरज

कोई नहीं

विद्वानो के मत से द्वादश मुखी रुद्राक्ष धारण करने से व्यक्ति सूरज के समान तेज ओर गुणवत्ता प्राप्त होति है एवं  चिंता, शक और डर को दुर करता है ओर आत्म शक्ति का विकास होता है

 

 

GURUTVA KARYALAY

92/3, BANK COLONY,

BHUBANESWAR- PIN- 751 018, (ORISSA) INDIA

 

Call us :- 91 + 9338213418, 91 + 9238328785.

Mail us :- gurutva_karyalay@yahoo.in

                   gurutva.karyalay@gmail.com

                         chintan_n_joshi@yahoo.co.in

 

Make a Free Website with Yola.